विद्यार्थियों के सर्वागीण विकास पर विद्या भारती का जोर: डॉ.गोस्वामी

Image
Published on

विद्या भारती के राष्ट्रीय महामंत्री डॉ. ललित बिहारी गोस्वामी ने कहा कि विद्या भारती अखिल भारतीय शिक्षा संस्थान शिक्षा जगत में कार्य करने वाला सर्वाधिक बड़ा एवं अप्रतिम संगठन है।

विद्या भारती के राष्ट्रीय महामंत्री डॉ. ललित बिहारी गोस्वामी ने कहा कि विद्या भारती अखिल भारतीय शिक्षा संस्थान शिक्षा जगत में कार्य करने वाला सर्वाधिक बड़ा एवं अप्रतिम संगठन है। संस्थान विद्यार्थियों सर्वांगीण विकास पर बल देता है। देश भर में विद्या भारती के मार्गदर्शन में लगभग 25 हजार विद्यालय संचालित हैं। 15 से 17 मार्च को संस्थान की साधारण सभा-2019 गीता निकेतन आवासीय विद्यालय परिसर में होगी। इसमें पूरे देश भर से प्रतिनिधि मिलकर अपने कार्य की समीक्षा करते हुए भविष्य की योजना निश्चित करेंगे। डॉ. ललित बिहारी गोस्वामी ने कहा कि प्रतिवर्ष परीक्षा परिणामों की ²ष्टि से सभी बोर्डों की मेरिट सूची के साथ-साथ खेलों में स्कूल गेम फेडरेशन आफ इंडिया में प्राप्त पदकों की 358 संख्या इसकी साक्षी हैं। शिक्षा के साथ सामाजिक सरोकारों को ध्यान में रखते हुए विद्या भारती देशभर में 4545 एकल विद्यालय व 5149 संस्कार केंद्रों का संचालन करती है, जिसमें विभिन्न कारणों से विद्यालय न जा सकने वाले बालकों के लिए शिक्षा व संस्कार की व्यवस्था होती है। उन्होंने बताया कि अगले तीन वर्षों के कार्य विस्तार, पोषक गांव, कौशल विकास, पिछले वर्ष की कार्रवाई की पुष्टि, वार्षिक प्रतिवेदन, आर्थिक विषयों का बजट, प्रयोगों व उपलब्धियों के वृत्त, विद्धत परिषद, प्रचार संपर्क आदि की योजना पर चितन-मंथन के साथ पूर्व छात्रों का समाज कार्यों के लिए उपयोग साधारण सभा के प्रमुख विचार बिदु होंगे।